श्राद्ध मेसेज ~ Shraddh WhatsApp SMS ~ Funny Jokes

2
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

Here, Very Funny Jokes for Shraddh (श्राद्ध) and SMS collection for this month, Shraddh Great Quotes and Suvichar.

shraddh funny sms hindi jokes

अरे ! हद हो गई यार,
ये Wish करने की…

साला आज किसी ने WhatsApp किया…

हैप्पी श्राद्ध…

~~~
Arey Had ho gayi yaar,
Ye wish karne ki…

Sala aaj Muje kisi ne Whatsapp kiya…
“Happy Shraddh”

******************

Read More Funny Jokes

Funny SMS for Shraddh

लड़की : आज मेरे पापा ने तुम्हें खाने पर बुलाया है।

लड़का : Wow Yar !! अचानक कैसे?

लड़की : अरे वो श्राद्ध के लिए कौवे नहीं मिल रहे थे, इसलिए…

~~~
Girl : Aaj mere papa ne tumhein khane pe bulaya hai..

Boy : Wow yar… Achanak kaise ?

Girl : Arey wo shraddh ke liye kauve nahi mil rahe the, Isliye…
******************

श्राद्ध मे कौवों का WhatsApp Status

“अभी तो पार्टी शुरू हुई है!”

~~~
Shraddh mein Kauwo ka Status

“Abhi to Party shuru hui hai.”
******************

पत्नी- अगर मैं मर गयी तो दूसरी शादी कितने दिन बाद करोगे?

पति- महंगाई बहुत है, श्राद्ध के साथ Reception हो जाये तो अच्छा होगा ।

~~~
Wife : Agar mein mar gayi to dusri shadi kitne din bad karoge ?

Husband : Mahangai bahut hai, Shraddh ke sath Reception adjust ho jaye to achha hoga…
******************

एयर होस्टेस पंडित जी से :- सर, क्या लेंगे?

पंडित जी :- पूरी, सब्ज़ी, खीर और लड्डू.

एयर होस्टेस :- सर आप प्लेन में बैठे हैं,
विजय माल्या के श्राद्ध में नहीं..

~~~
Air hostess (Pandit ji se) : Sir, Kya loge ?

Pandit ji : Puri, Sabji, Khir aur Laddu…

Air Hostess : Sir, Aap plane me baithe hai,

Vijay Malya ke Shraddh mein nahi…

Great Quotes for Shraddh :

“अपने माता पिता को जीते जी ही सारे सुख देना सच्चा श्राद्ध है”

Apne Mata-Pita ko jite ji hi sare sukh dena sachcha sradhdh hai.
******************

यहाँ देखिये : Superb Quotes Collection

Superb-Awesome Message for Shraddh Month :

एक दोस्त हलवाई की दुकान पर मिल गया ।

मुझसे कहा- ‘आज माँ का श्राद्ध है, माँ को लड्डू बहुत पसन्द है, इसलिए लड्डू लेने आया हूँ ‘

मैं आश्चर्य में पड़ गया ।
अभी पाँच मिनिट पहले तो मैं उसकी माँ से सब्जी मंडी में मिला था ।

मैं कुछ और कहता उससे पहले ही खुद उसकी माँ हाथ में झोला लिए वहाँ आ पहुँची ।

मैंने दोस्त की पीठ पर मारते हुए कहा- ‘भले आदमी ये क्या मजाक है ?
माँजी तो यह रही तेरे पास !

दोस्त अपनी माँ के दोनों कंधों पर हाथ रखकर हँसकर बोला, ‍’भई, बात यूँ है कि मृत्यु के बाद गाय-कौवे की थाली में लड्डू रखने से अच्छा है कि माँ की थाली में लड्डू परोसकर उसे जीते-जी तृप्त करूँ ।

मैं मानता हूँ कि जीते जी माता-पिता को हर हाल में खुश रखना ही सच्चा श्राद्ध है ।

आगे उसने कहा, ‘माँ को मिठाई,
सफेद जामुन, आम आदि पसंद है ।
मैं वह सब उन्हें खिलाता हूँ ।

श्रद्धालु मंदिर में जाकर अगरबत्ती जलाते हैं । मैं मंदिर नहीं जाता हूँ, पर माँ के सोने के कमरे में कछुआ छाप अगरबत्ती लगा देता हूँ ।

सुबह जब माँ गीता पढ़ने बैठती है तो माँ का चश्मा साफ कर के देता हूँ । मुझे लगता है कि ईश्वर के फोटो व मूर्ति आदि साफ करने से ज्यादा पुण्य
माँ का चश्मा साफ करके मिलता है ।

यह बात श्रद्धालुओं को चुभ सकती है पर बात खरी है ।
हम बुजुर्गों के मरने के बाद उनका श्राद्ध करते हैं ।
पंडितों को खीर-पुरी खिलाते हैं ।
रस्मों के चलते हम यह सब कर लेते है, पर याद रखिए कि गाय-कौए को खिलाया ऊपर पहुँचता है या नहीं, यह किसे पता ।

अमेरिका या जापान में भी अभी तक स्वर्ग के लिए कोई टिफिन सेवा शुरू नही हुई है ।
माता-पिता को जीते-जी ही सारे सुख देना वास्तविक श्राद्ध है ॥
👏👋👏

मन को छुये तो आगे भेज देना , वर्ना कचरे में पटक देना !
आपकी मर्जी ……

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here